SSC CGL (Staff Selection Commission Combined Graduate Level) एक प्रमुख परीक्षा है जो भारतीय कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) द्वारा आयोजित की जाती है। यह परीक्षा भारत सरकार में ग्रेजुएट स्तर के पदों के लिए एक प्रमुख भर्ती प्रक्रिया का हिस्सा है। SSC CGL परीक्षा के माध्यम से सरकारी विभागों में विभिन्न पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों की भर्ती की जाती है।

यहाँ कुछ महत्वपूर्ण जानकारी है SSC CGL के बारे में:

  1. परीक्षा प्रकार: SSC CGL परीक्षा चार चरणों में आयोजित की जाती है:
    • Tier-I: प्रारंभिक परीक्षा (100 मार्क्स)
    • Tier-II: मुख्य परीक्षा (पेपर 1, 2, 3 और 4; प्रत्येक पेपर 200 मार्क्स)
    • Tier-III: टियर-2 के लिखित परीक्षण के बाद आयोजित निबंध (100 मार्क्स)
    • Tier-IV: डेटा एंट्री या कम्प्यूटर प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ का कौशल परीक्षण (है/नहीं)
  2. परीक्षा विषय: परीक्षा Tier-I में चार विषयों पर आधारित होती है: सामान्य ज्ञान, सामान्य अध्ययन, संख्यात्मक योग्यता, अंग्रेजी भाषा और योग्यता मापक प्रश्न। Tier-II में प्रत्येक पेपर विभिन्न विषयों पर आधारित होता है जैसे कि गणित, अंग्रेजी भाषा और सामान्य अध्ययन।
  3. योग्यता: उम्मीदवारों को एक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री की आवश्यकता होती है ताकि वे SSC CGL परीक्षा में भाग ले सकें।
  4. आयु सीमा: आयु सीमा विभिन्न पदों के लिए अलग-अलग होती है, लेकिन आमतौर पर उम्मीदवारों की आयु 18 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आयु में छूट आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों के लिए प्रदान की जाती है।
  5. चयन प्रक्रिया: चयन प्रक्रिया मुख्य रूप से चार चरणों से गुजरती है – Tier-I, Tier-II, Tier-III और Tier-IV। योग्यता को आधार बनाकर उम्मीदवारों को चयन किया जाता है।
  6. पदों की विविधता: SSC CGL के माध्यम से कई प्रकार के पदों की भर्ती की जाती है, जैसे कि इंस्पेक्टर, असिस्टेंट, ऑफिसर, अकाउंटेंट, कम्प्यूटर विशेषज्ञ, एक्साइज इंस्पेक्टर, और अन्य विभिन्न केंद्रीय सरकारी विभागों में।

SSC CGL के माध्यम से विभिन्न सरकारी विभागों में ग्रेजुएट स्तर की विभिन्न पदों की भर्ती की जाती है, जैसे कि:

  1. ग्रुप बी (नॉन-गजटेड): इसमें उपनिरीक्षक, आयकर सहायक, समृद्धि कर्मी, केन्द्रीय उप बुद्धिमत्ता अभियंता (संगणक), यूनिवर्सिटी क्लर्क आदि शामिल होते हैं।
  2. ग्रुप बी (गजटेड): इसमें उप-निरीक्षक, समृद्धि कर्मी, समृद्धि आयकर निरीक्षक, केन्द्रीय उप बुद्धिमत्ता अभियंता (संगणक) आदि शामिल होते हैं।
  3. ग्रुप “सी” (नॉन-गजटेड): इसमें टैक्स असिस्टेंट, उपनिरीक्षक, समृद्धि कर्मी, केन्द्रीय उप बुद्धिमत्ता अभियंता (संगणक) आदि शामिल होते हैं।
  4. ग्रुप “सी” (गजटेड): इसमें उपनिरीक्षक, समृद्धि कर्मी, समृद्धि आयकर निरीक्षक, केन्द्रीय उप बुद्धिमत्ता अभियंता (संगणक) आदि शामिल होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *